तमिलनाडु के 9 साल की बच्ची ने पुराने टायर के मदद से बनाया मच्छर पकड़ने वाला जाल, लोगों ने की खूब तारीफ़।

0
117

भारत एक ऐसा देश है जो जुगाड़ में बहुत आगे है। यहाँ के लोग अपने समस्या का हल किसी न किसी प्रकार से निकल लेते हैं। आज हम एक बच्ची की कहानी लेकर आये है जिन्होंने अपने समस्या का हल कुछ अनोखा तौर से निकाला ।

बच्ची थी मच्छर से परेशान

आज हमारे आसपास में प्रदूषण और गंदगी के कारण मच्छर की संख्या बढ़ती जा रही हैं, जो हमारे पर्यावरण के लिए अच्छे नही है । मच्छर अपने साथ कई तरह के बीमारी भी लेता है जिसके कारण इससे निजज् पाना बहुत जरूरी है। यूँ तो भारत में मच्छर से होने वाली सभी तरह की बीमारी का इलाज है उसके संबंधित दवा , क्रीम व लिक्विड भी मौजूद हैं पर इनमें से कुछ स्वास्थ के लिए हानिकारक भी है। तमिलनाडु की रहने वाली 8 वर्षीय इंदिरा ने भी इस समस्या को देखा । उनके खुद के आसपास के इलाकों में गंदेगी के कारण उनको भी मच्छर की समस्या आ रही थी।

बच्ची ने निकला मच्छर से बचने का समाधान

इंदिरा भी बाकी लोगों की तरह की मच्छर से परेशान रहती थी। जिसके कारण उसने एक दिन फैसला किया की वह इसका समाधान निकालने का प्रयास करेगी और कुछ समय बाद इंदिरा सफ़ल भी हुई । इंदिरा ने अपने हुनर का प्रदर्शन करते हुए टायरों से मच्छर पकड़ने का जाल तैयार किया।

इंदिरा ने 13 इंच का टायर से किया मच्छर पकड़ने वाले जाल का निर्माण

जैसे की हमने बताया था कि भारतीय काफी जुगाड़ू होते हैं, इसी प्रकार की इंदिरा भी थी। इंदिरा ने अपने समस्या का समाधान निकालने के लिए घर में मौजूद पुराने चीजों का इस्तमाल किया। आपको बता दे इंदिरा ने जाल का निर्माण Ovillantas कॉन्सेप्ट पर कार्य कर देशी जुगाड़ के सहारे किया है। मच्छर जाल बनाने के लिए इंदिरा ने एक हैंगर, सिलिकॉन गोंद, 13 इंच का पुराना टायर, बॉल वाल्व, फिल्टर पेपर, पीवीसी गोंद के साथ 1 इंच की पीवीसी पाइप और पानी से भरे बोतल जैसी चीजों का उपयोग किया है।

मच्छर खुद ही होते हैं जाल की तरफ आकर्षित ।

जाल में पानी होने के कारण मच्छर खुद ही इस जाल के तरफ आकर्षित होते हैं। पानी के अंदर मच्छर अंडे देने लगते हैं, जब धीरे धीरे पानी में मौजूद अंडे लार्वा में परिवर्तित होता है तो टायर से निकाल क्लोरीन के जल की मदद से उन्हें मारा जाता है।

इंदिरा ने बताया कि उन्होंने जिस Ovillant का प्रयोग किया व ज्यादातर घरों में मौजूद होते हैं। इंदिरा ने आगे बताया कि उनके द्वारा किया गया इस निर्माण से आधिक मात्रा में मच्छर मरते हैं और स्वास्थ्य को भी हानि नहीं होती है।

लोगों का मिला सराहना ।

इंदिरा द्वारा मच्छर के समाधान को लेकर किया गया इस निर्माण कुछ दिनों तक सोशल मीडिया में काफी चर्चित रही। इसी कारण सभी लोगों ने इंदिरा की सराहना की।