आईपीएल खेलने से बैन हो चुके हैं ये 4 खिलाड़ी

0
800

9 अप्रैल को मुंबई इंडियंस और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के बीच होन वाले उद्घाटन मैच के साथ ही आईपीएल (IPL) के 14वें सीज़न की शुरुआत हो जाएगी.

हर साल की तरह इस साल भी फ़ैंस में दुनिया की इस प्रतिष्ठित लीग को लेकर उत्साह काफ़ी बढ़ा हुआ है. गौरतलब है कि पिछले साल कोरोना महामारी की वजह से आईपीएल का 13वाँ सीज़न दुबई में खेला गया था.

क्रिकेट, एंटरटेनमेंट और ग्लैमर के अलावा इस लीग का विवादों से भी पुराना नाता रहा है. कई बार क्रिकेटरों पर बैन लगने की वजह से भी आईपीएल अक्सर सुर्खियों में रही है. इसी सिलसिले में इस आर्टिकल में हम बात करेंगे 5 ऐसे ही किकेटर्स के बारे में जिन पर आईपीएल (IPL) में खेलने से पाबंदी लग चुकी है.

ल्यूक पॉमर्सबैक

ऑस्ट्रेलिया के ल्यूक पॉमर्सबैक (Luke Pomersbach) आईपीएल 2012 में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के लिए खेल रहे थे. इससे पहले आईपीएल 2011 (IPL 2011) का सीज़न पॉमर्सबैक के लिए काफ़ी अच्छा गुज़रा था.

आईपीएल 2008 (IPL 2008) और 2009 में पर्थ के इस बल्लेबाज़ को किंग्स इलेवन पंजाब की फ़्रेंचाइज़ी ने अपने साथ जोड़ा था.

पॉमर्सबैक के नाम आईपीएल के 17 मैचों में 27.45 के औसत से 302 रन बनाए थे. इस खिलाड़ी का बुरा वक़्त उस समय आया जब 2012 में एक अमेरिकी नागरिक के आरोपों पर दिल्ली पुलिस ने गिरफ़्तार किया. इसके बाद ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी को आईपीएल से भी बैन कर दिया गया.

मोहम्मद आसिफ़

2008 में खेले गए आईपीएल के पहले सीज़न में शेखपुरा, पंजाब के पाकिस्तानी तेज़ गेंदबाज़ मोहम्मद आसिफ़ (Mohammad Asif) बड़े नामों में से एक थे. स्टार पाकिस्तानी गेंदबाज़ की गेंद हवा में और पिच पर , दोनों ही तरह से स्विंग कराने में महारथ हासिल थी.

पहले सीज़न में दिल्ली डेयरडेविल्स (Delhi Daredevils) की फ़्रेंचाइज़ी ने दिग्गज पेसर ग्लेन मैक्ग्रा (Glenn Mcgrath) के साथ ही आसिफ़ को भी अपने साथ जोड़ा.

लेकिन पाकिस्तानी पेसर को झटका उस वक़्त लगा जब दिल्ली और राजस्थान के बीच मैच से पहले लिए गए यूरीन सैंपल में प्रतिबंधित ड्रग नैंड्रोलोन मिला. इसके बाद आसिफ़ पर आईपीएल (IPL) खेलने से एक साल का प्रतिबंध लगा दिया गया था और इसी के साथ ही उन्हें दिल्ली के साथ अपने कॉन्ट्रैक्ट से हाथ धोना पड़ा था.

हरभजन सिंह

जालंधर के 40 वर्षीय सीनियर भारतीय ऑफ़ स्पिनर हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) के लिए आईपीएल (IPL) का पहला सीज़न ज़्यादा यादगार नहीं गुज़रा.

वाक़या उस वक़्त का है जब लीग राउंड में किंग्स इलेवन पंजाब (Kings XI Punjab) और मुंबई इंडियंस (Mumbai Indians) के बीच एक मैच खेला गया. पंजाब ने इस मैच में मुंबई को हराया था.

दरअसल, क्रिकेट बिरादरी के लिए चौंकाने वाली ख़बर उस वक़्त आई जब ये पता चला कि मैच के बाद दोनों टीमों के खिलाड़ियों के हाथ मिलाने के दौरान भज्जी केरल के भारतीय तेज़ गेंदबाज़ श्रीसंत (S Sreesanth) को थप्पड़ जड़ दिया.

बाद में हुई जाँच में टर्बनेटर के दोषी पाए जाने के बाद बीसीसीआई (BCCI) ने उस पूरे सीज़न के लिए उन पर बैन लगा दिया था. इसके अलावा बोर्ड ने भज्जी को 5 वन-डे अंतरराष्ट्रीय मैचों से भी प्रतिबंधित कर दिया था.

एस श्रीसंत

2008 में हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) के साथ थप्पड़ विवाद में उलझने के बाद कोच्चि एक्सप्रेस के नाम से मशहूर केरल के भारतीय तेज़ गेंदबाज़ एस श्रीसंत (S Sreesanth) आईपीएल 2013 (IPL 2013) में स्पॉट-फ़िक्सिंग के आरोपों में घिरे.

दरअसल, श्रीसंत और राजस्थान के अन्य 2 गेंदबाज़ों पर आरोप था कि उन्होंने बुकी से पैसे लेकर जानबूझकर नॉ-बॉल डाली थी.

जिसके बाद हुई जाँच में बीसीसीआई ने श्रीसंत को दोषी पाते हुए उन पर क्रिकेट खेलने से आजीवन प्रतिबंध लगा दिया था. जिसके बाद वो कभी आईपीएल में नज़र नहीं आए.

हालांकि कोर्ट में 6-7 तक चले केस के बाद श्रीसंत को क्लीन चिट मिल गई और बीसीसीआई (BCCI) ने उनके ऊपर लगाया हुआ आजीवन प्रतिबंध भी हटा दिया.