कभी सड़कों पर मांगता था बिख, किस्मत ने करवट बदली और कैंब्रिज यूनिवर्सिटी में हो गया एडमिशन.

0
185

सपने सच करना कौन नहीं चाहता, कौन नहीं चाहता कि वो भी किसी बड़े मुकाम पर पहुंचे. लेकिन हर बार जैसे आप चाहें वैसा ही हो जाए ये सम्भव तो नहीं, लेकिन वहीं कई बार ऐसा होता है जो शायद हमने कभी सोचा भी ना हों और कुछ ऐसा हो जाता है जिसे देख लोग हैरान रह जाते हैं. ऐसा ही साल 2016 में कुछ हुआ था चेन्नई के जयावेल के साथ जो कभी सड़कों पर भीख माँगा करते थे, लेकिन फिर अचानक उनकी किस्मत ने ऐसा करवट बदला की वो सड़क से उठ कर कैंब्रिज यूनिवर्सिटी पढ़ाई करने पहुंच गए.

बचपन में ही हो गई थी पिता की मौत.

बता दें चेन्नई के जयावेल जब सिर्फ 3 से 4 साल की ही थे, तभी उनके पिता का साया उनके सिर से उठ गया. पिता के जाने के बाद घर की स्तिथि बहुत बेकार होती चली गई और मां ने शराब पीना शरू कर दिया.

बता दें जयावेल तीन भाई बहन थे, मां के शराब की तरफ जाने के बाद इन बच्चे ने दो वक्त की रोटी के लिए सड़कों पर भीख मांगना शुरू कर दिया. लेकिन एक दिन इनके साथ कुछ ऐसा हुआ जिसके बाद इनकी जिंदगी ही बदल गई. सुयम चैरिटेबल ट्रस्ट के फाउंडर उमा और मुथुराम की नजर इन बच्चों पर पड़ी और फिर इस ट्रस्ट की तरफ से इनका एडमिशन वहीं के एक स्कूल में करवा दिया गया.

जयावेल ने मन लगाकर पढ़ाई की और फिर 12th के बाद इनका एडमिशन दुनिया के सबसे बड़े यूनिवर्सिटी यूके के कैंब्रिज यूनिवर्सिटी में हो गया, कैंब्रिज में पढ़ाई खत्म करने के बाद फिर उनका एडमिशन ग्लींडर यूनिवर्सिटी में हुआ और फिर यहां से कर से जुड़ी शिक्षा खत्म करने के बाद वो अब फ़िलहाल फिलिपीन से मेंटिनेंस टेक्नॉलजी की पढ़ाई कर रहे हैं.

बता दें इसके बाद वो अपने जैसे और बच्चे के एजुकेशन के लिए काम करना चाहते हैं.