बाबा के ढाबा वाले कांता प्रसाद अस्पताल से घर लौटे, हुआ खुलासा – कई यूट्यूबर्स के कारण बाबा ने की थी खुदकुशी करने की कोशिश.

0
327

फूड व्लॉगर यूट्यूबर गौरव वासन के वीडियो के कारण रातों रात फेमस होने वाले बाबा के ढाबा वाले कांता प्रसाद ने अभी कुछ दिन पहले खुदकुशी करने की कोशिश की थी, जिसके बाद उन्हें दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया गया था. हालांकि अब खबर आ रही है कि बाबा की तबीयत अब ठीक हो चुकी है, जिसके बाद उन्हें अस्पताल से छुट्टी मिल गई है और अब वह अपने घर लौट चुके हैं. बता दें कांता प्रसाद ने नींद की गोलियां खाकर खुदकुशी करने की कोशिश की थी.

पुलिस ने की बाबा से पूछताछ.

बता दें अस्पताल से ठीक होकर घर लौटने के बाद, पुलिस ने कांता प्रसाद से पूछताछ की है, और यह पता लगाने की कोशिश की है कि आखिर बाबा ने खुदकुशी करने की कोशिश क्यों थी?

पुलिस किए दिए हुए ब्यान में कांता प्रसाद ने एक चौकाने वाला खुलासा किया है, बाबा ने पुलिस को बताया कि उनके पास बार बार कई यूट्यूबर्स के तरफ से बार बार कॉल आ रहा था, जिसमें उन्हें गौरव वासन से माफी मांगने को कहा जा रहा था. बार बार यूट्यूबर्स की तरफ से इस तरह की कॉल आने से बाबा परेशान हो गए थे और डिप्रेशन में चले गए थे, जिसके बाद बाबा उन्होंने डिप्रेस्ड होकर नींद की गोली खाकर खुदकुशी करने की कोशिश की थी.

इससे पहले कांता प्रसाद के बेटे ने भी पुलिस को ब्यान दिया था, जिसमें उसने बताया था कि बाबा पिछले कुछ समय से अपने धंधे को लेकर काफी परेशान नजर आ रहे थे. आगे उनके बेटे ने बताया था कि बाबा ने नींद की गोली शराब के नशे में खाया था.

बाबा का ढाबा वाले बाबा और यूट्यूबर गौरव वासन की लड़ाई खत्म, देखते ही लगाया गले - Baba Ka Dhaba owner and YouTuber Gaurav Vasan fight ended social media viral tstn - AajTakबाबा के ढाबा वाले कांता प्रसाद और उनकी पत्नी का वीडियो फूड व्लॉगर ने बनाया था, जिसके बाद बाबा और उनका ढाबा रातों रात फेमस जो गया था. और फिर बाबा को काफी सारे लोगों ने फंड देकर सपोर्ट भी किया था. जिसके बाद ने गौरव पर आरोप लगाया था कि, गौरव ने उन्हें फंड में मिले पैसे को हड़प लिया है.

More : मैं जनता का सेवक हूं, सेवा करने का मौका मिलना चाहिए, 27 साल में 21 बार हो चुका है ट्रांसफर.

गौरव के वीडियो बनाने के बाद बाबा इतने फेमस हो गए थे कि फिर उन्होंने अपना रेस्टोरेंट में खोला था, लेकिन रेस्टोरेंट में प्रॉफिट से ज्यादा खर्च होने के के कारण बाबा ने रेस्टोरेंट बंद कर दिया था और फिर से अपने पुराने ढाबे पर लौट आए थे.