इन लोगों को नहीं पीना चाहिए लौकी का जूस, हो सकती हैं स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं

0
278

लौकी एक हरी सब्जी है जिसका सेवन हर किसी के लिए फायदेमंद होता है। इसमें फाइबर, एंटी-ऑक्सीडेंट्स, विटामिन ए, विटामिन सी, कैल्शियम, आयरन, मैग्नीशियम , जिंक, पोटैशियम और प्रोटीन प्रचुर मात्रा में होता है। ये सभी तत्व शरीर को हेल्दी रखने में मदद करते हैं।

स्वास्थ्य विशेषज्ञों का मानना है कि ब्लड प्रेशर कंट्रोल करने, डायबिटीज और किडनी की बीमारियों के खतरे को कम करने में लौकी फायदेमंद है। बताया जाता है कि लौकी का जूस पीने से फैटी लिवर की समस्या भी कम होती है। हालांकि, किसी भी चीज का ज्यादा इस्तेमाल हानिकारक होता है। जानिये अधिक लौकी का जूस पीने से शरीर को क्या नुकसान हो सकता है।

क्यों सेहत के लिए है नुकसानदायक: एक्सपर्ट्स के अनुसार कई बार लौकी को कृत्रिम विकास प्रदान करने के लिए लोग इंजेक्शन लगाते हैं। इन लौकियों के जूस को पीना शरीर के लिए हानिकारक हो सकता है। इसके अलावा, कच्चे लौकी के जूस को पीने से भी पेट संबंधी दिक्कतें होने लगती हैं।

क्या हैं लौकी के जूस के साइड इफेक्ट्स: स्वास्थ्य विशेषज्ञों का मानना है कि इसके अधिक सेवन से लोगों का पाचन तंत्र बिगड़ सकता है, इससे दस्त और उल्टी जैसी दिक्कतें हो सकती हैं। इतना ही नहीं, अगर साफ-सफाई को अनदेखा किया गया हो तो इससे कई बार बैक्टीरियल इंफेक्शन भी हो सकता है।

बताया जाता है कि जो लोग मधुमेह और उच्च रक्तचाप जैसी बीमारियों से ग्रस्त हैं उन्हें सीमित मात्रा में ही लौकी के जूस का सेवन करना चाहिए। अगर मरीज इस जूस को जरूरत से ज्यादा पीयेंगे तो इससे शुगर और बीपी का स्तर असामान्य रूप से घट सकता है। इस गिरावट के कारण चक्कर आने, बेहोशी, आंखों के सामने अंधेरा छा जाने जैसी परेशानी हो सकती है।

लौकी का जूस कड़वा होता है, इसे पीने से कई लोगों को एलर्जी भी हो सकती है। इस वजह से उनके चेहरे या हाथ-पैर में सूजन, फेस पर दाने निकल सकते हैं। इसके अलावा, रैशेज और खुजली जैसी परेशानी भी हो सकती है।

लौकी के कड़वेपन को कैसे दूर करें: हेल्थ एक्सपर्ट्स का मानना है कि जो लोग लौकी के जूस का सेवन करते हैं उन्हें इस बात का ख्याल रखना चाहिए कि जूस कड़वा न हो। इसका कड़वापन पेट में गैस जैसी दिक्कत पैदा कर सकता है। ऐसे में इसे हटाने के लिए आप जूस में काला नमक, काली मिर्च पाउडर, नींबू, पिसा हुआ जीरा और पुदीना के कुछ पत्तों को डालकर पी सकते हैं।

कब और कितना पीयें: एक्सपर्ट्स के अनुसार लौकी का जूस सुबह खाली पेट पीना चाहिए। साथ ही, दिन भर में एक गिलास से अधिक इसका सेवन नहीं करना चाहिए।