जानिए, एमडीएच के मालिक धर्मपाल गुलाटी कितनी संपत्ति के मालिक थे

0
260

मसालों की दुनिया में अपनी अलग पहचान बनाने वाली कंपनी एमडीएच (MDH) को तो आप निश्चित ही जानते होंगे और किचन में एमडीएच के कई सारे मसाले भी रखे होंगें. इस कंपनी ने देश ही नहीं बल्कि दुनिया में अपना जलवा बिखेरा लेकिन क्या आप जानते हैं एमडीएच(MDH)के मालिक कौन हैं और कितनी संपत्ति है?

Mahashay Dharampal Gulati (MDH) Wiki, Age, Death, Wife, Children, Family,  Biography & More – WikiBio
इस कंपनी की शुरुआत करने वाले शख्स हैं धर्मपाल गुलाटी (DHARMPAL GULATI) जिन्होंने सालों पहले इस काम को एक छोटे से कमरे से शुरू किया था लेकिन अब यह पूरे विश्व में फैल चुका है. आपको याद होगा कुछ समय पहले 3 दिसंबर 2020 को गुलाटी जी का निधन हो गया था. मसाला किंग कहे जाने वाले धर्मपाल गुलाटी जी को इस दिन दिल का दौरा पड़ा था और इस वजह से इन्हें दुनिया को अलविदा कहना पड़ा. धर्मपाल गुलाटी के जीवन से जुड़े कुछ रोचक जानकारियां हम आपको इस पोस्ट में बताने वाले हैं.

Dharampal Gulati | The end of an era: 'King of Spices,' MDH man Dharampal  Gulati was FMCG sector's highest-paid CEO | Business News

पाकिस्तान के सियालकोट में जन्मे धर्मपाल गुलाटी का शुरुआती जीवन आर्थिक तंगी के कारण बिता उनके पिता भी मसालों का ही काम किया करते थे लेकिन इस काम से उनका खर्चा ही चल पाता था गरीबी का आलम यह था कि उन्हें पैसों की तंगी के कारण अपनी पढ़ाई को छोड़ना पड़ा. 1947 के बंटवारे के बाद गुलाटी अपने परिवार के साथ पाकिस्तान को छोड़कर हिंदुस्तान में आकर रहने लगे और उन्होंने सन 1952 में दिल्ली के चांदनी चौक में एक छोटी सी दुकान खरीदी और अपने पुश्तैनी काम को ही आगे बढ़ाना शुरू कर दिया.

MDH owner 'Mahashay' Dharampal Gulati alive, reports of his death fake -  The Economic Times

यहां पर सालों तक इन्होंने दुकान की और कड़ी मेहनत और संघर्ष के बाद इनकी यह दुकान धीरे-धीरे फेमस होने लगी और उन्होंने इस सफलता के साथ ही दिल्ली में एक फैक्ट्री लगाई और जिसका नेटवर्थ लगातार बढ़ता ही गया और धीरे-धीरे कंपनी देश और दुनिया में प्रसिद्ध हो गई. कहीं ना कहीं इस उपलब्धि के पीछे धर्मपाल गुलाटी जी की मेहनत ही छिपी है.

MDH Owner Mahashay Dharampal Gulati Passes Away At The Age Of 98, Tributes  Pour In

धर्मपाल गुलाटी एक धार्मिक इंसान भी थे वह भगवान में असीम आस्था रखते थे और समाज सेवा के कार्यों में अपना काफी योगदान देते थे. इन्होंने एक 250 बेड वाला अस्पताल भी बनवाया है जिसमें गरीबों का इलाज मुफ्त किया जाता है और इनके ट्रस्ट ने एक स्कूल भी बनाया है जो कि गरीब लोगों को शिक्षा देने का काम करता है. अस्पताल और स्कूल की जिम्मेदारी इनके द्वारा बनाए गए ट्रस्ट पर है. 2017 में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक धर्मपाल गुलाटी का नेटवर्थ 213 करोड था।