कोरोना का नया डेल्टा स्ट्रेन ज्यादा खतरनाक, इसपे वैक्सीन का कोई असर नही

0
84

वर्ल्ड हेल्थ आर्गेनाईजेशन (WHO) के यूरोपियन निदेशक ने हाल में ही ये चेतवानी जारी किया है के कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन ज्यादा खतरनाक है और बहुत तेजी से फैलता है। उन्हीने ने यूरोपियन सरकारों से निवेदन किया है के कई देश अब आने जाने और यात्रा करने की छूट दे रहे है ऐसे मे बाहर देशो से आने वाले लोग स्थानीय लोगो में कोरोना के इस नए स्ट्रेन का इन्फेक्शन बड़ा सकते है।

उन्होंने कहा के दुनिया भर के देशो को अभी भी यात्रा और सामाजिक कार्यकर्मो को इजाजत देने से रोकना चाहिए कड़े इंतजाम करने चाहिए। उन्होंने ये चिंता जताई के ये नया स्ट्रेन जिसे “डेल्टा स्ट्रेन” के नाम से जाना जाता है, ज्यादा आक्रमक है और इसपे कुछ वैक्सीन्स का प्रभाव भी नही होता है।

WHO/Europe | Coronavirus disease (COVID-19) outbreak - Mental health and  psychological resilience during the COVID-19 pandemic

आपको बताते चले के उन्होंने ने ये भी बताया के पिछले गर्मी के मौसम में कमउम्र लोगो में इन्फेक्शन धीरे धीरे हुआ और अचानक से वृद्ध और ज्यादा उम्र वालो को संक्रमित करने लगा। उन्होंने ये भी कहा के जब तक टिक नही लगता है तब तक सरकार को मुस्तैद रहना होगा और लोगो के एहतियात बरतना होगा। अगर सरकारे अभी लॉकडाउन हटाती है तो इसके भयानक मंजर देखने को मिल सकते है

हाल ही में हुए शोध में ये भी कहा गया है के अगर 2021 में 75% जनसंख्या को वैक्सीन लगा भी दिया जाता है तो दुनिया के पूरे पापुलेशन में हर्ड इम्युनिटी आने में कम से कम डेढ़ साल का वक़्त लगेगा।

WHO के निदेशक क्लूगे ने ये भी कहा के “हमे अपनी पिछली गलतियों को नही दोहराना चाहिए। लोगो को अभी भी अनावश्यक बाहर निकलने और यात्रा करने से बचना चाहिए। अपने सुरक्षा के इंतेज़ाम करने चाहिए।” उन्होंने सरकारों से टीकाकरण के स्पीड को बढ़ाने और ज्यादा सेंटर्स बनाने की अपील की।

आपको ये भी बताते चले के कोरोना का ये नया “डेल्टा स्ट्रेन” यूरोप में ही मिला था और वैज्ञानिकों का मनना है के ये बहुत ही खतरनाक, आक्रमक और वैक्सीन रेसिस्टेंट है। शोध कर रहे वैज्ञानिकों ने ये भी पाया के ये अब तक 23 बार म्युटेशन कर चुका है।