शनिदेव के कोप से बचने के लिये हर शनिवार करे ये उपाय

0
106

हिंदू पंचांग के अनुसार, वैशाख मास का आरंभ 28 अप्रैल 2021 से शुरू हो चुका है। इस महीने का महत्व पूजा-पाठ के लिहाज से बेहद ही खास माना गया है। इस माह विष्णु जी की पूजा का विधान है। इसके साथ ही भगवान शिव और ब्रह्मा जी की भी पूजा इस माह में करने का विधान है।

ऐसा करने से विशेष पुण्य प्राप्त होता है। इसके अलावा मान्यता है कि अगर वैशाख माह के पहले शनिवार को कुछ उपाय किए जाएं तो बेहद उत्तम होता है। ऐसा करने से शनि की साढ़ेसाती और ढैय्या के प्रभाव में कमी आती है।

ऐसा कहा जाता है कि इन उपायों को करने से शनि देव की महादशा, शनि की साढ़ेसाती, शनि की ढैय्या के प्रभाव को कम किया जा सकता है। जागरण अध्यात्म के इस लेख में हम आपको इन्हीं उपायों के बारे में बता रहे हैं। ऐसा करने से शनि देव शांत हो जाते हैं। आइए जानते हैं इन उपायों के बारे में।

वैशाख मास के पहले शनिवार करें ये उपाय:

वैशाख मास के पहले शनिवार को पशु-पक्षियों के लिए पानी का इंतेजाम अगर किया जाए तो बेहद फलदायी होता है। इस दिन जरुरतमंद लोगों को अपनी क्षमतानुसार अन्न आदि का दान करना चाहिए।

इस दिन लोगों को अगर काला छाता दान किया जाए तो शुभ माना जाता है। इस दिन राहगीरों के लिए रास्ते में पानी का प्रबंध करना चाहिए। यह बेहद पुण्य का काम होता है। इस दिन दिव्यांगजनों को सेवा और सहयोग प्रदान करना चाहिए।
डिसक्लेमर

इस दिन से शनि की होगी उल्टी चाल, जानें किस राशि वालों को रहना होगा सावधान

‘इस लेख में निहित किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की सटीकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संग्रहित कर ये जानकारियां आप तक पहुंचाई गई हैं।

हमारा उद्देश्य महज सूचना पहुंचाना है, इसके उपयोगकर्ता इसे महज सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त, इसके किसी भी उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता की ही रहेगी। ‘